Friday, April 3, 2020

Textual description of firstImageUrl

How to improve Immune System - इम्यून सिस्टम कैसे बढ़ाएं

जैसा की आप सभी जानते है की कोरोना वायरस की वजह से पुरे देश में २१ दिनों का कर्फ्यू चल रहा है और ये हम सभी की जिम्मेदारी बनती है की हम सभी अपने घरों में रहकर इसको फैलने से रोकें. घर पर रहते हुए हमें अपने स्वास्थ का भी पूरा ध्यान रखना है।

आप सभी को ये भी पता होगा की कोरोना वायरस हो या कोई दूसरी बीमारी वो उन लोगो पर जल्दी हावी होती है जिनकी प्रतिरोधक छमता कम होती है।

तो आइये हम बात करते हैं कुछ ऐसे घरेलू नुस्खों की जिससे आप को अपनी प्रतिरोधक छमता बढ़ाने में मदद मिलेगी।


  1. तुलसी के 20 पत्ते, एक चम्मच पिसा हुआ अदरक, एक चौथाई चम्मच दालचीनी का चूरन लेकर  उन्हें अच्छे  से एक कप पानी में उबाल लें और जब पानी आधा कप रहे जाये तो उसे छान के पी लें।
  2. तुलसी के 15 पत्ते अदरक  का एक  छोटा टुकड़ा और पांच कालीमिर्च को अच्छी तरह से पानी में उबाल कर चाय की तरह पी सकते हैं।
  3. इम्युनिटी को मजबूत करने में डाइट का महत्वपूर्ण भूमिका होती है। रूटीन पर भोजन करें, भोजन पोषण से भरा होना चाहिए और मौसमी फलो और सब्जियों का ही प्रयोग करे। खाना ताजा और गरम ही खाये। बासी खाना न खाये.
  4. डाइट में दाल और हरी सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा से प्रयोग करे।
  5. आप अपनी डाइट में तरह तरह के ड्राई फ्रूट्स जैसे की बादाम ,किशमिश, खजूर, अखरोट पिस्ता और सीड्स (तरबूज , खरबूज आदि ) को शामिल कर सकते हैं , अगर उपलब्ध हैं तो ।
  6. नाश्ते ,दिन के खाने और रात्रि भोजन में आप इडली-सांभर, पोहा, बेसन चीला, रसम, आजवाइन के परांठे दही के साथ, खिचडी, राजमा, उपमा, साबूदाना खिचड़ी, साबूदाना बड़ा चटनी के साथ, स्प्राउट्स  आदि पौष्टिक खाने की सामग्री शामिल कर सकते हैं।
  7. शाम के नास्ते में आप  भुने हुए मखाने और मूंगफली , काजू और गुड़, घर की बनी मठरी, नमकपारे, ठेकुआ, पोहे की नमकीन ,घी में भुंजे हुऐ मुरमुरे ले सकते है।
  8. रात में सोने से पहले आप हल्दी और गुड़ का दूध, हल्दी और केसर का दूध, तुलसी और अदरक  का काढ़ा  ले सकते हैं।
21 दिन के लॉक डाउन में आप को क्या करना चाहिए
  1. हमेशा गुनगुने पानी और ताज़े भोजन का ही इस्तेमाल करें ।
  2. भोजन में मूंग ,मसूर, मोठ,आदि हलके दालों का प्रयोग करें ।
  3. मौसमी फल और सब्ज़ियों का उपयोग करें ।
  4. भोजन में अदरक ,कालीमिर्च, लेहसुन ,इलायची का प्रयोग करें ।
  5. अच्छी नींद ,पौष्टिक भोजन और योग करें ।
  6. सकारात्मक रहे और अपनी इम्यून सिस्टम को बढ़ाये और नाराकातमक सोच को मन - मष्तिक में आने न दे।

क्या न करे
आइसक्रीम ,कोल्ड्रिंक्स ,ठन्डे पानी और ठन्डे जूस  का सेवन न करें ।
अधिक चिकनाई या तले हुए भोजन का उपयोग  कम से कम और हो सके तो न करें ।
मांस का उपयोग न करें ।

रेसिपी के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

https://www.shilpikitchen.com/2018/02/healthy-colourful-veggie-three-bean.html

https://www.shilpikitchen.com/2018/12/homemade-soups.html

https://www.shilpikitchen.com/2018/03/healthy-soya-tikka.html

https://www.shilpikitchen.com/2019/01/granola-bar.html

https://www.shilpikitchen.com/2019/11/gur-ki-kheer.html

https://www.shilpikitchen.com/2019/12/fox-nut-pudding-makhane-ke-kheer.html

https://www.shilpikitchen.com/2018/01/caramalized-banana-oats-pancake.html

Sunday, March 29, 2020

Textual description of firstImageUrl

How to make masala namakpare | मसाला नमकपारे बनाने की विधि

Ingredients

Maida (Refined flour) - 250 gm

Suji (Semolina) - 100 gm
Salt -  as per taste
Ajwain (Carom seeds) - 1 tbsp
Lal mirch powder (red chilli powder) - 1.5 tbsp
Chaat masala - 2 tbsp
Aamchoor powder (Dry mango powder)- 1 tbsp
Peri Peri masala [optional]
Refined oil - for moyan - 1/2 cup + for frying

How to make
  1. Add maida and suji  in large mixing bowl and then add oil,salt and ajwain.
                     
  2. Mix well all ingredients until mixture is crumble.
  3. Add water in small batch and knead stiff dough.
  4. Rest the dough for 15 minutes.
  5. After 15 minutes knead dough again.
  6. Now cut the dough into four equal portions.
  7. Take one and roll out 1/2 inch thick roti.

                                          
                                           
  8. Now cut the roti into a diamond shape.
                               
                              
  9. Heat the oil on medium flame.
                                      
  10. Add namakpare to it and fry until it becomes light golden.
                                     
                                 
  11. Now put fried namakpare in a big pot, add chaat masala, mango powder, red chilli powder and peri-peri masala.
                                  
    Namakpare
  12. Now, the delicious Namakpare is ready to eat.
  13. When cold, put it in an airtight container and store it for at least 15 days.


मसाला नमकपारे 
बनाने की विधि हिन्दी में:

मसाला नमकपारे की सामग्री

मैदा -250 ग्राम
सूजी - 100 ग्राम
नमक - स्वादानुसार
अजवाइन - १ बड़ा चम्मच
लाल मिर्च पाउडर - 1.5 बड़ा चम्मच
चाट मसाला - 2 बड़े चम्मच
आमचूर पाउडर - 1 बड़ा चम्मच
पेरी -पेरी मसाला [वैकल्पिक]
रिफाइंड तेल - मोयन के लिए - 1/2 कप + तलने के लिए

मसाला नमकपारे बनाने की विधि

  1. बड़े मिक्सिंग बाउल में मैदा और सूजी डालें और फिर तेल, नमक और अजवाइन डालें।
  2. सारे सामग्री को अच्छी तरह से मिलाये। 
  3. अब थोड़ा -थोड़ा पानी डाल के सख्त आटा गूंथ ले।
  4. अब आटे को 15 मिनट के लिए रख दे। 
  5. अब आटे को 15 मिनट के बाद दुबारा गूँथ ले।
  6. अब आटे को चार बराबर हिस्से में काट ले। 
  7. आटे की एक लोई ले और १/२ इंच मोटी रोटी बेल ले। 
  8. अब रोटी को डायमंड के आकार में काट ले। 
  9. मध्यम आंच पर तेल गरम करके उसमे नमकपारे डाल कर हलका सुनहरा होने तक तले। 
  10. अब एक बड़े बर्तन में तले हुए नमकपारे डाल कर उसमे चाट मसाला,आमचूर पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और पेरी -पेरी मसाला मिलाये। 
  11. ठन्डे होने पर एयर टाइट कंटेनर में डाल  कर कम से कम 15 दिनों के लिए स्टोर कर सकते है। 






Saturday, January 25, 2020

Textual description of firstImageUrl

til ladoo recipe | तिल के लड्डू बनाने का तरीका

Til Ladoo
Til Ladoo (Sesame seed Ladoo)
Til(Sesame seed) ladoo is on high demand in the winter season. It is prepared in India on the occasion of Lohri, Makar Sankranti, Uttarayan, Khichdi. Its two main ingredients are sesame seeds or white til and jaggery or gud. These are known to immediately infuse warmth and energy into the bloodstream and also help fighting with the cold winter mornings.

Health benefits of Gur and til:

  1. Eat til and gur in the form of tilkut, chikki or ladoo, then it acts as a natural booster.
  2. They also help to keep bones strong.
  3. They act as a natural multivitamin.
  4. You can't believe but it also helps to heal the wound faster especially in children.

Ingredients of Til ladoo

Sesame Seed/ White Til- 1 cup
Jaggery/ Gur - 1/2 cup
Water- 5 tbsp
Ghee - 2 tbsp

How To Make Til ladoos

To roast the sesame seeds
  1. In a heavy saucepan/kadhai, dry roast the sesame seed on low flame till it splutters and colour changes to a golden brown. Be careful not to turn them dark brown.
  2. Transfer this to a tray and keep aside to cool.
  3. Once cool, crush the white sesame seed coarsely in a mortar and pestle.
To make the til ladoo mix
  1. Pour water in a kadhai over low heat. 
  2. Then add the jaggery and let it melt on low heat.
  3. Keep stirring continuously otherwise gur will burn.
  4. Now add ghee and cook for another 10 seconds.
  5. Switch off the gas and stirring for another 1 minute so it is cool down. 
  6. Add white til in gur mixture and mix with a spatula, till well blended.
  7. Your ladoo mixture is ready.
How to make ladoos
  1. Leave the mixture in a kadhai to cool down for 2-3 minutes.
  2. The mixture shouldn't be that hot that it burns your hands, not should it too cold, or else the mixture won't get shaped into ladoos as it becomes too hard.
  3. Shape the mixture into balls, like the size of golf balls.
  4. Till ladoos are ready.
Notes
  1. Dry roast the sesame seeds on a low flame.
  2. Also, add dry roast nuts to make it more nutritious.
  3. I also add water to make jaggery syrup, otherwise, if you add jaggery directly into the kadhai, it burns immediately and there is a burnt taste of this comes in the ladoo.

तिल के लड्डू बनाने की विधि हिन्दी में

सर्दियों के मौसम में तिल के लड्डू का प्रयोग खूब किया जाता है। यह भारत में लोहड़ी, मकर संक्रांति, उत्तरायण, खिचड़ी के अवसर पर बनाया जाता है। इसके दो मुख्य सामग्री सफेद तिल और गुड़ हैं । ये शरीर में खून गरम रखता है इसलिए सर्दियों में इसे खूब खाया जाता है। 

गुड़ और तिल के स्वास्थ्य लाभ:

  1. तिल और गुड़ को तिलकुट, चिक्की या लड्डू के रूप में  खाएं, तो यह प्राकृतिक बूस्टर का काम करता है।
  2. ये हड्डियों को मजबूत रखने में भी मदद करते हैं।
  3. ये एक प्राकृतिक मल्टीविटामिन के रूप में कार्य करते हैं।
  4. यह बच्चों में विशेष रूप से घाव को तेजी से भरने में मदद करता है।

तिल के लड्डू की सामग्री

सफेद तिल- 1 कप
गुड़  - १/२ कप
पानी- 5 बड़े चम्मच
घी - 2 बड़े चम्मच

तिल के लड्डू बनाने की विधि  

तिल को भूनने के लिए
  1. एक भारी सॉस पैन / कड़ाही में धीमी आंच पर सफेद तिल को भूनें, जब तक यह एक सुनहरा भूरा न हो जाए। ध्यान रखें कि वे गहरे भूरे रंग में न बदलें।
  2. इसे दूसरे किसी बर्तन में पलट लें और ठंडा होने के लिए अलग रख दें।
  3. ठंडा होने के बाद, तिल को दरदरा कर लें। इसके लिए आप मूसल का प्रयोग कर सकते हैं| 
तिल के लडडू बनाने के लिए
  1. कम आँच पर कढ़ाही में पानी डालें।
  2. फिर गुड़ डालें और इसे कम आंच पर पिघला लें | 
  3. मिश्रण को लगातार मिलाते रहें अन्यथा गुड़ जल जाएगा।
  4. अब इसमें घी डालें और 10 सेकंड के लिए पकाएं।
  5. गैस बंद कर दें और 1 मिनट तक के लिए और मिश्रण को मिलाते रहेँ ताकि यह ठंडा हो जाए।
  6. भूनें सफेद तिल को गुड़ के मिश्रण में डालें और अच्छी तरह से मिला दें | 
  7. आपका लड्डू मिश्रण तैयार है।
कैसे बनाएं लड्डू
  1. कढ़ाही में मिश्रण को 2-3 मिनट के लिए ठंडा होने के लिए छोड़ दें।
  2. मिश्रण इतना गर्म नहीं होना चाहिए कि आपके हाथ जल जाएँ , और ना ही  बहुत ठंडा हो, नही तो इससे लड्डू का आकार नहीं आयेगा। 
  3. मिश्रण को गेंदों की आकार की तरह बना लें ।
  4. स्वादिष्ट तिल लड्डू तैयार हैं | 
सुझाव
  1. तिल को धीमी आंच पर ही सूखा भूनें।
  2. इसे अधिक पौष्टिक बनाने के लिए इसमें सूखे भुने हुए मेवे मिला सकते हैं ।
  3. गुड़ की चाशनी बनाने के लिए पानी का प्रयोग जरूर करें , नहीं तो, अगर आप गुड़ को सीधे कढ़ाही में डालते हैं, तो यह तुरंत जल जाता है और इस का जला हुआ स्वाद लड्डू में आता है।

Sunday, December 15, 2019

Textual description of firstImageUrl

Fox nut pudding | Makhane ke kheer | मखाने की खीर

Whenever we feel hungry, our hands move towards those things which are not good for health. At such times, you can use Makhane(Fox nutsas a snack. You can consume roasted Makhane.

Benefits of Fox nuts(Makhane)

It is low in cholesterol, fat and sodium. This is the reason that it is a suitable snack for high blood pressure and obese patients. Makhana has some properties that help to keep the kidney healthy.

Diabetes patients are also advised to eat Makhana due to its low glycemic index. Makhana is also useful in repairing the proteins that have been damaged within the body. The Makhana also contains natural flavonoids which reduces both irritation and aging processes within the body.


Fox nuts pudding(मखाना की खीर)

Ingredients for making Makhane ki kheer

Makhana[Fox nuts] - 1 cup
Milk- 2 cup
Cardamom Powder - 1/2 tsp
Saffron strands - a pinch
Sugar - 5-6 tbsp
Ghee -2 tbsp

How to make Makhane ki kheer
  1. Melt the ghee in a heavy bottom pan or kadhai over moderate heat.
  2. Reduce the heat, add the makhana or fox nuts and saute for 2-3 minutes.

  3. Transfer makhane in a bowl and keep aside.
  4. Put the milk in a kadhai over high heat and let it come to a boil.

  5. Reduce the heat and then add makhana.

  6. After 2 minutes add cardamom powder and saffron.


  7. Stir makhana kheer in intervals and then simmer for 8-10 minutes,
  8. Stirring in intervals to prevent the milk from sticking to the bottom of the pan.
  9. When kheer is almost done than add sugar and cook for another 1 minute.

How to serve makhana kheer


Serve makhana kheer hot in winter with dry fruits[optional]

Notes
  1. If you want you can crush fox nuts or makhana in mixer after sauteing makhana in ghee.
  2. Also add dry fruits of your choice like almonds, raisins but in our home, we like without any dry fruits
  3. When you add makhana in ghee saute continuously, otherwise, makhana is burned and kheer does not taste good.
मखाने की खीर बनाने की विधि हिन्दी में:


मखाने की खीर बनाने की सामग्री


मखाना [फॉक्स नट्स] - 1 कप
दूध- 2 कप
इलायची पाउडर - 1/2 छोटा चम्मच
केसर - एक चुटकी
चीनी - 5-6 बड़े चम्मच
घी -2 बड़ा चम्मच

मखाने की खीर कैसे बनाये

1.  मध्यम आँच पर एक भारी तले की कड़ाही में घी पिघलाएँ।
2.  आँच को कम करें, मखाना या फॉक्स नट्स डालें और 2-3 मिनट तक भूनें।
3.  मखाने को एक कटोरे में स्थानांतरित करें और एक तरफ रखें।
4.  कढ़ाही में दूध को तेज़ आँच पर रखें और उबाल आने दें।
5.  आँच कम करें और फिर मखाना डालें।
6.  2 मिनट के बाद इलायची पाउडर और केसर डालें।
7.  आँच को कम करके खीर को बीच बीच मे चलाते रहें और फिर 8-10 मिनट के लिए उबालें।
8.  खीर को बीच बीच मे चलाते रहें नहीं तो खीर कढ़ाई के तले से चिपक कर ख़राब हो जाएगी और जलने की          बदबू आने लगेगी।
9.  जब खीर लगभग पक जाये तब चीनी डालकर और एक मिनट के लिए पकाये।
10. स्वादिष्ट मखाना खीर तैयार है | 

मखाना खीर को कैसे परोसे

मखाना की खीर को सर्दियों में गरमा गरम  सूखे मेवों के साथ परोसें [वैकल्पिक]

टिप्पणियाँ

  1. आप चाहे तो मखाने को घी में भुजने के बाद मिक्सी में दरदरा कर सकते है। 
  2. आप अपनी पसंद के सूखे मेवे जैसे बादाम, किशमिश भी डाल सकते है । 
  3. जब आप मखाना घी में भुंजे तब लगातार चलाते रहिये नहीं तो मखाने जल जायेंगे और खीर में से जलने की बदबू आ जायेगी।

Thursday, December 5, 2019

Textual description of firstImageUrl

गाजर का हलवा | Gaajar ka halwa

Carrot Halwa is a delicious food dish in India. It is eaten especially in winter. The main ingredients of carrot halwa are carrots, milk, nuts, sugar, ghee and khoya. It is a pleasure to eat dry fruits by mixing them in Carrot Halwa.

Health benefits of carrots

In carrots, vitamin A and calcium are found in high amounts. Carrots are rich in beta-carotene, which, when consumed, converts to vitamin A in the liver. Vitamin A directly affects the retina and the Rhodesian, a purple pigment that is necessary for night vision. The high-fiber content of carrots also helps regulate the digestive system.
carrots can help prevent cardiovascular diseases and help slow down the ageing process.
Carrots also helps to flush toxins from the body, acting as a natural detox.
Eating carrots has been shown to reduce the risk of certain types of cancer by up to one-third.
Gaajar Halwa(गाजर का हलवा )
Gaajar Halwa(गाजर का हलवा )
Ingredients for Gaajar halwa:

Carrot- 1 Kg.
Milk- 1.25 Ltr.
Sugar- 250 Gm.
Ghee- 2 Tbsp.
Cardamom Pods- 5-6 PCs.
Dry Fruits- Almonds, Cashew and Raisin

How to make Gaajar halwa
  1. First, peel the carrot then rinse very well.
  2. Grate the carrots either with a hand-held grater or in a food processor. 
    Grated Carrot
  3. In a heavy bottom Kadai, add milk [1.25 liter] full cream milk and boil the milk.
    Boiled Milk
  4. When milk boil then adds grated carrot. Pour 4 cups full-fat milk.

  5. Mix the grated carrots and milk together.

  6. Cook this mixture on a low to medium flame. after some minutes, the milk will begin to froth first and then start reducing slowly and slowly.
  7. Keep on stirring this halwa mixture often. keep scraping the sides of the Kadai to remove the evaporated milk solids. 
  8. Simmer carrots in milk and stir also at intervals, so that the milk does not stick to the bottom of the pan.
  9. When milk is to be evaporates then add cardamom powder. this whole process takes  around  30 minutes.

  10. Simmer till the whole halwa mixture becomes dry. the milk should evaporate completely and  you will see fine milk solids in the carrot halwa.

  11. Now add sugar and cook until halwa starts to thicken and sugar mix very well in gajar mixture.

  12. After 30 minutes, when milk evaporates completely then add 2 Tbsp of ghee.
       
  13. Mix very well and cook for another 2 minutes.
  14. Stir at intervals otherwise halwa burn from bottom of the pan.
  15. When halwa absorbs sugar then add dry fruits of your choice.



  16. Then cook for another one minute.


How to serve Gaajar ka halwa
Serve Gaajar ka halwa hot or warm. Refrigerate the leftovers and while serving you can warm the halwa. Garnish with some chopped dry fruits while serving.


गाजर का हलवा बनाने की विधि हिन्दी में:


गाजर हलवा के लिए सामग्री:

गाजर- 1 किग्रा

दूध- 1.25 लीटर
चीनी- 250 ग्राम
घी- 2 बड़े चम्मच
इलायची की फली- 5-6 पीसी
ड्राई फ्रूट्स- बादाम, काजू और किशमिश

गाजर हलवा कैसे बनाएं

  1. सबसे पहले, गाजर को छील लें फिर अच्छी तरह धो लें।
  2. गाजर को या तो हाथ से पकड़ने  वाले ग्रेटर के साथ या फूड प्रोसेसर में घिस लें।
  3. एक भारी तली कड़ाही में, दूध [1.25 लीटर] फुल क्रीम दूध डालें।
  4.  जब दूध उबल जाए तो उसमें कद्दूकस किया हुआ गाजर डालें। 4 कप फुल-फैट दूध डालें।
  5. पिसी हुई गाजर और दूध को एक साथ मिलाएं।
  6. इस मिश्रण को धीमी से मध्यम आंच पर पकाएं। कुछ मिनटों के बाद, दूध पहले जमना शुरू हो जाएगा और  फिर धीरे-धीरे दूध सूखने लग जायेगा ।
  7. इस हलवे को हिलाते रहें। बाष्पीकृत दूध के ठोस पदार्थों को निकालने के लिए कड़ाही के किनारों को खुरचते रहें।
  8. गाजर को दूध में पकाएं और थोड़ी-थोड़ी देर के अंतराल पर हिलाते रहें, ताकि दूध कड़ाही के तले से न चिपके।
  9. जब दूध वाष्पित होने वाला हो तो इलायची पाउडर डालें। इस पूरी प्रक्रिया में लगभग 30 मिनट लगते हैं।
  10. पूरे मिश्रण को  सूखने तक पकाएं। दूध पूरी तरह से वाष्पित होना चाहिए और आप गाजर के हलवे में दूध के ठोस पदार्थ देखेंगे ।
  11. 30 मिनट के बाद, जब दूध पूरी तरह से वाष्पित हो जाए तो 2 बड़े चम्मच घी डालें।
  12. बहुत अच्छी तरह से 2 मिनट के लिए और पकाएं।
  13. अब शक्कर डालें और हलवे को गाढ़ा होने तक पकाएं ताकि गाजर के  मिश्रण में चीनी अच्छी तरह से मिल जाए।
  14. लगातार हलवा चलाते रहे अन्यथा हलवा पैन के नीचे से जल जायेगा ।
  15. जब हलवा चीनी को सोख ले तो अपनी पसंद के सूखे मेवे डालें।
  16. फिर एक मिनट के लिए और पकाएं।

गाजर का हलवा कैसे परोसें 

गाजर का हलवा गर्म सर्व करें। सर्व करते समय कुछ कटे हुए ड्राई फ्रूट्स से गार्निश करें|





















Saturday, November 30, 2019

Textual description of firstImageUrl

Nimona Recipe - Bihari Cuisine

Nimona - Bihari Cuisine

Ingredients for Nimona Recipe:

Green peas- 250 gm
Potatoes- 2-3
Tomatoes- 2
Ghee or oil- 5 tbsp
Turmeric powder- 1 tsp
Cloves- 2-3 [powdered]
Black cardamom- 1[crushed]
Black pepper powder- 1/2 tsp
Cumin seeds- 1 tsp
Bay leaves- 1
Aamchoor powder- 1 tsp
Green chilies- 1-2
Ginger- 1 inch
Salt to taste
Red chilli- 1
Asafoetida- a pinch
Saunf- 1/2 tsp
Garam masala- 1/4 tsp

Ingredients for Nimona
How to make Nimona
  1. Grind green peas coarsely, peel and cut potatoes, cut tomatoes.
  2. Crushed green chilli and ginger, cloves, black cardamom, black pepper powder in a pestle and mortar.[I prefer pestle and mortar as ingredients grind in it taste better but you also grind in grinder].
  3. Heat ghee or oil in a pressure cooker. When ghee becomes hot add bay leaf, cumin seeds,saunf and asafoetida on a low medium flame.
  4. Add red chilli and a crushed mixture of ginger and garlic into ghee and saute for a minute.
  5. Add finely chopped tomatoes and turmeric, salt and garam masala and fry until oil separates from the masala.
  6. Add green peas and potatoes and saute them on a low medium flame at least for 6-8 minutes.
  7. Now add three cups of water and pressure cook for 5-6 whistles.
  8. When pressure release opens the pressure cooker.
  9. Add aamchoor powder and hot water if the nimone is too thick.
  10. Serve immediately with hot rice.

In Hindi:

निमोना बनाने की सामग्री:

हरी मटर- 250 ग्राम
आलू- 2-3
टमाटर- २
घी या तेल- 5 बड़े चम्मच
हल्दी पाउडर- 1 चम्मच
लौंग- 2-3 [पाउडर ]
काली इलायची- 1 [पाउडर ]
काली मिर्च पाउडर- 1/2 छोटा चम्मच
जीरा- 1 छोटा चम्मच
तेजपत्ता- १
आमचूर पाउडर- 1 चम्मच
हरी मिर्च- 1-2
अदरक- 1 इंच
नमक स्वादअनुसार
लाल मिर्च- १
हींग- एक चुटकी
सौंफ- १/२ छोटा चम्मच

गरम मसाला- 1/4 छोटा चम्मच

निमोना बनाने की विधि

  1. हरी मटर को बारीक पीस लें, आलू को छील लें और टमाटर को काट लें।
  2. इमामदस्ते में हरी मिर्च,अदरक, लौंग, काली इलायची और काली मिर्च पाउडर कुट लें | (आप इसके लिए मिक्सर ग्राइंडर भी  प्रयोग में ला सकते हैं )
  3. प्रेशर कुकर में घी या तेल गरम करें। जब घी गर्म हो जाए तो धीमी आंच पर तेजपत्ता, जीरा, सौंफ और हींग डालें।
  4. अब इसमें लाल मिर्च, अदरक और लहसुन का मिश्रण डालें और १ मिनट तक मिश्रण को मिलायें | 
  5. बारीक कटे टमाटर, हल्दी, नमक और गरम मसाला डालकर तब तक भूनें जब तक कि मसाला से तेल अलग न हो जाए।
  6. हरी मटर और आलू डालकर धीमी आंच पर कम से कम 6-8 मिनट तक भूनें।
  7. अब तीन कप पानी डालें और प्रेशर कुकर बंद कर दें ।
  8. 5-6 सीटी  आने  के बाद  गैस बंद कर दें | 
  9. कुकर से गैस निकल जानेपर पर ही ढक्क्न खोलें | 
  10. अगर निमोना ज्यादा गाढ़ा हो जाये तो, आमचूर पाउडर और गर्म पानी मिलाएं।
  11. निमोना तैयार  है, तुरंत गरम चावल के साथ परोसें।

Monday, November 25, 2019

Textual description of firstImageUrl

Dal Bati Churma - Rajasthan Cuisine

Dal Bati Churma
Rajasthani cuisine was influenced by desert climate, the war-like lifestyles of its inhabitants and the availability of ingredients in this arid region.Food that could last for several days and could be eaten without heating was preferred. Scarcity of water and fresh green vegetables have all had their effect on the cooking so they mostly use dry ingredients like lentils,spices and various flours like bajra, besan etc.In Rajasthan people mostly use papads and badis to make curries as they are kept in storage for long period.Cows,goats and camel provide milk for yogurt,butter and ghee. Many of Rajasthani dishes have been embraced nationally and internationally like in non-vegetarian-lal maas and safed maas. In vegetarian like govind gatte,  dal bati churma etc.

In this blog I am sharing Rajasthan famous vegetarian recipe dal bati churma.

Ingredients

For Batti

Wheat flour-1 Cup
Semolina or Suji- 1/4 Cup
Ghee- 3 Tbsp
Cumin seed- 1 Tsp
Carrom Seed - 1/2 Tsp
Baking Powder -1/4 Tsp
Salt as per taste

For Dal

Chana Dal/Split Bengal Gram –1/4 Cup
Arhar Dal/ Pigeon Peas Split – 1/4 Cup
Moong Dal/Split Green Gram – 1/4 Cup
Urad Dal/Split Black Lentils – 1/4 Cup
Urad Dal Chilka/black Gram Skinned – 1/4 Cup
Salt To Taste
Ghee – 3 Tbsp
Cloves – 4-5
Bay Leave – 1
Dried Red Chili – 1
Black Cardamon – 1
Cinnamon Stick – 1/2
Cumin Seeds – 1 Tsp
Green Chillies, Chopped – 2
A Pinch Of Asafoetida
Ginger-Garlic, Crushed – 2 Tbsp
Onions, Finely Chopped – 1[big] or [small size]
Tomatoes, Finely Chopped – 1-2
Coriander Powder – 1 Tsp
Turmeric Powder – 1/2 Tsp
Kashmiri or degi mirch– 1 Tsp
Garam Masala Powder – 1/2 tsp
Lemon Juice – 1 Tbsp
Coriander Leaves for Garnish

For Churma

Whole Wheat Flour-1 Cup
Semolina -1/4 Cup
Powdered Sugar-1/4 Cup
Ghee-1/3 Cup
Almonds-10-12
Pistachios[optional]- 8-10
Green Cardamon Powder- 1 tsp

How to make Bati


  1. Mix the flour, semolina, salt and baking powder.
  2. Add ghee and rub ghee into the flour mixture till it resembles like bread crumbs.
  3. Add carrom seeds and cumin seeds and then make a firm dough using water.
  4. Make small balls, flatten slightly and press with the thumb lightly in the centre. 
  5. Roast them in a hot oven at 200 Celsius for about 25-30 minutes or you can also roast on gas tandoor.
  6. Take out battis, press lightly and soak in a bowl of ghee.
  7. Drain from a bowl of ghee after 2 minutes so that battis absorb ghee very well otherwise it becomes dry from inside when you eat it.

How to make Dal


  1. Wash all the dals, and put into the pressure cooker. Add salt and 5 cups of water, turmeric powder and mix well. Cook for 4-5 whistles.
  2. Heat the oil/ghee in a pan. Add the cloves, dried red chilli, green cardamom, black cardamom, bay leaf, cinnamon stick, cumin seeds, and asafoetida. Saute for a few seconds.
  3. When the seeds crackle, add onion and chopped chilies. Saute till the onions changes into brown colour.
  4. Add ginger-garlic paste. Saute until the raw smell of ginger garlic not gone.
  5. Now add chopped tomatoes and coriander powder, turmeric powder, chilli, and garam masala and cooked until the oil not released.
  6. Add some more salt, if needed.
  7. Add this tempering to the cooked dal and mix well.
  8. Cook on a medium flame for 2 to 3 minutes.
  9. Remove from heat. Add lemon juice and mix well.
  10. Keep aside. Dal is ready.

How to make Churma


  1. Combine the whole wheat flour, semolina and melted ghee[4-5 Tbsp] and mix very well.
  2. Now add water and make a stiff dough.
  3. Divide the dough into 8-10 small size ball.
  4. Make a shape of bati and baked them as above or you can make thick chapatis prick them with a fork. Bake chapatis at 200 Celsius in the oven or bake them on a low flame on it on Tawa.
  5. Remove from oven or Tawa and cool them
  6. Make a fine powder from the cooled chapatis or bati in a mixer
  7. Melt remaining ghee in a kadhai, Add chapati powder and roast on a low medium flame until the colour of chapati powder turns in to golden brown. Remove from heat and then add powdered sugar, green cardamom powder and finely chopped almonds and pistachios
  8. Serve churma as it or you can make ladoos also[for making ladoos shape them into balls while the mixture is hot].

For serving Dal Bati and Churma


  1.  Pour ghee over hot dal.
  2.  Pour some ghee over bati and churma.
  3.  Serve hot with red chutney, onions, lemon wedges.
  4.  Serve immediately and enjoy.
रेसिपी हिंदी में

सामग्री

बाटी के लिए

गेहूं का आटा -1 कप
सूजी या सूजी- 1/4 कप
घी- 3 बड़े चम्मच
जीरा- 1 छोटा चम्मच
कैरम / अजवाईन बीज - 1/2 चम्मच
बेकिंग पाउडर -1/4 चम्मच
स्वादानुसार नमक

दाल के लिए

चना दाल - 1/4 कप
अरहर की दाल - 1/4 कप
मूंग दाल (छिलका) - 1/4 कप
उड़द दाल (धुली) - १/४ कप
उड़द दाल (छिलका) –१/४ कप
नमक स्वादअनुसार
घी - 3 बड़े चम्मच
लौंग - 4-5
तेजपत्ता - १
सूखे लाल मिर्च - 1
काली इलायची - 1
दालचीनी स्टिक - 1/2
जीरा बीज - 1 चम्मच
हरी मिर्च, कटा हुआ - २
एक चुटकी हींग
अदरक-लहसुन, कुचल - 2 बड़े चम्मच
प्याज, बारीक कटा हुआ - १ [बड़ा] या २ [छोटा आकार]
टमाटर, बारीक कटा हुआ - 1-2
धनिया पाउडर - 1 चम्मच
हल्दी पाउडर - 1/2 चम्मच
कश्मीरी या degi मिर्च -1 चम्मच
गरम मसाला पाउडर - 1/2 छोटा चम्मच
नींबू का रस - 1 बड़ा चम्मच
गार्निश के लिए धनिया पत्तियां

चूरमा के लिए

गेहूं का आटा -1 कप
सूजी -1/4 कप
पाउडर चीनी -1 / 4 कप
घी -1 / 3 कप
बादाम- 10-12
पिस्ता [वैकल्पिक] - 8-10
हरी इलायची पाउडर- 1 छोटा चम्मच

बाटी कैसे बनाये

  1. आटा, सूजी, नमक और बेकिंग पाउडर मिलाएं।
  2. आटे के मिश्रण में घी मिलाएं और ब्रेड क्रम्ब्स की तरह होने तक आटे के मिश्रण में घिसें।
  3. अजवायन के बीज और जीरा मिलाएं और फिर पानी का उपयोग करके एक कड़ा आटा बनाएं।
  4. छोटी गेंदें बनाएं, थोड़ा चपटा करें और अंगूठे को हल्के से केंद्र में दबाएं।
  5. लगभग 25-30 मिनट के लिए 200 डिग्री पर गर्म ओवन में भूनें या आप गैस तंदूर पर भी भून सकते हैं।
  6. बाटी को बाहर निकालें, हल्के से दबाएं और एक कटोरी घी में भिगो दें।
  7. बाटी को 2 मिनट बाद बाउल से निकाल लें, ताकि बाटी घी को अच्छी तरह से सोख ले, नहीं तो यह अंदर से सूख जाता है।

दाल कैसे बनाये

  1. सभी दालें धो लें, और प्रेशर कुकर में डालें। नमक और 5 कप पानी, हल्दी पाउडर डालें और अच्छी तरह मिलाएँ। 4-5 सीटी आने तक पकाएं।
  2. एक कड़ाही में तेल / घी गरम करें। लौंग, सूखी लाल मिर्च, हरी इलायची, काली इलायची, तेज पत्ता, दालचीनी स्टिक, जीरा और हींग डालें। इसे कुछ सेकंड के लिए सौते करें।
  3. जब बीज चटकने लगे, प्याज और कटी हुई मिर्च डालें। प्याज को भूरा रंग में बदलने तक भुने।
  4. अदरक-लहसुन का पेस्ट डालें। तब तक हिलाएं जब तक अदरक लहसुन की कच्ची गंध न निकल जाए।
  5. अब कटे हुए टमाटर और धनिया पाउडर, हल्दी पाउडर, मिर्च और गरम मसाला डालें और तेल छोड़ने तक पकाएं।
  6. जरूरत हो तो कुछ और नमक डालें।
  7. इस तड़के को पकी हुई दाल में मिलाएँ और अच्छी तरह मिलाएँ।
  8. मध्यम आंच पर 2 से 3 मिनट तक पकाएं।
  9. गैस से उतार  लें |  नींबू का रस डालें और अच्छी तरह मिलाएँ।
  10. दाल तैयार है।

चूरमा कैसे बनाये

  1. साबुत गेहूं का आटा, सूजी और घी [4-5 बड़े चम्मच] लें और अच्छी तरह मिलाएँ।
  2. अब पानी डालकर कड़ा आटा गूंथ लें।
  3. आटे को 8-10 छोटे आकार की बॉल में विभाजित करें।
  4. बाटी का आकार बनाएं और उन्हें ओवन या गैस ओवन में सेंकें, या आप मोटी चपातियाँ बना सकते हैं और काँटे की मदद  से चपाती के चारो तरफ छेद करिये जिससे चपाती न फुले | चपातियों को ओवन में 200 सेल्सियस पर बेक करें या तवा पर धीमी आंच पर सेंकें।
  5. ओवन या तवा से निकालें और उन्हें ठंडा करें ।
  6. मिक्सर में ठंडी चपातियों या बाटी से एक महीन पाउडर बनाएं ।
  7. बचे हुए घी को कढ़ाही में पिघलाएं, चपाती पाउडर डालें और धीमी आंच पर तब तक भूनें जब तक चपाती पाउडर का रंग सुनहरा भूरा न हो जाए।  गैस से उतार  लें और फिर पाउडर चीनी, हरी इलायची पाउडर और बारीक कटा हुआ बादाम और पिस्ता मिलाएँ।
  8. चूरमा को वैसे ही परोसें या आप लड्डू भी बना सकते हैं [लड्डू बनाने के लिए, उन्हें गर्म मिश्रण का उपयोग करके गेंदों की तरह आकार दें]।
दाल बाटी और चूरमा परोसने के लिए

  1.  गरम दाल के ऊपर घी डालें।
  2.  बाटी और चूरमा के ऊपर थोड़ा घी डालें।
  3.  लाल चटनी, प्याज, नींबू फांक के साथ परोसें।
  4.  तुरंत परोसें और आनंद लें।

Follow by Email